217 साल में पहली बार कानपुर में काशी जैसी गंगा आरती, 11 हजार दीपों से रोशन हुआ अटल घाट

Spread the love


कानपुर। हरिद्वार, काशी और चित्रकूट की तर्ज पर अब हर शाम उद्योग नगरी कानपुर में गंगा आरती होगी। वैसे तो यहां मां गंगा की सुबह-शाम आरती होती रही है, लेकिन एक उत्सव की तरह कानपुर के 217 साल के इतिहास में पहली बार हुई है। शाम 5 बजे से यहां अटल घाट पर श्रद्धालुओं का जमघट होने लगा था। सूर्य के अस्त होने के साथ ही अटल घाट 11 हजार दीपों की रोशनी से जगमगा उठा।

शुक्रवार को जिला प्रशासन व नगर निगम ने अटल घाट पर गंगा आरती व पूजन का आयोजन किया। शुरुआत औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, महापौर प्रमिला पांडेय, मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर व नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी, पं. शिवकांत ने मां गंगा पर चुनरी अर्पित कर की। उत्तराखंड से गंगोत्री का जल लेकर आए आयुष गौड़ ने मां गंगा को जल अर्पित किया। इसके बाद गंगा आरती की गई। सभी ने हाथों में दीप लेकर मां से सुख-समृद्धि और कोरोना से निजात की कामना की।

गोविंद बोलो हरे गोपाला बोलो… भजन और शंखनाद के बीच भक्तों ने मां गंगा के जयकारे लगाए। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मेरे कार्यकाल में बने घाट पर शुभ कार्य का श्रीगणेश करने का मौका मिला। महापौर ने कहा कि गंगा की स्वच्छता में सबको योगदान देना होगा। इस अवसर पर राज्यमंत्री इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी अजीत पाल एडीएम सिटी अतुल कुमार, गोल्डन बाबा मनोजानंद, गुरूविंदर सिंह छाबड़ा आदि उपस्थित रहे।

217 साल में पहली बार आयोजन
24 मार्च 1803 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने कानपुर को जिला घोषित किया था। तभी से 24 मार्च को कानपुर जिले का स्थापना दिवस मनाया जाता है। कानपुर के इतिहास की जानकारी रखने वाले सोशल एक्टिविस्ट अशोक सिंह दद्दा ने बताया कि कानपुर जनपद की स्थापना काल से कभी यहां काशी-हरिद्वार, प्रयागराज या चित्रकूट की तर्ज पर प्रतिदिन होने वाली आरती नहीं हुई। पिछले साल जब PM नरेंद्र मोदी दिसंबर माह में कानपुर आए थे तो उन्होंने अटल घाट पर ही गंगा आरती की थी। लेकिन भी कानपुर के लंबे इतिहास में यह पहली बार होने जा रहा है। कानपुर का जुड़ाव भगवान राम के पुत्रों लवकुश से भी है। यहीं बिठूर में उनका जन्म हुआ था। आज गंगा मां भी खुश हो गईं।

हल्ला बोल को यूपी के सभी जिलों में संवाददाताओं की जरूरत है। ऐसे इच्छुक व्यक्ति जो निशुल्क रूप से हमसे जुड़ना चाहते हैं वो व्हाट्सएप नंबर 9451647342 पर हल्ला बोल टाइप कर संदेश भेज सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *