अजब परंपराः इस गांव में महिलाएं पांच दिन तक नहीं पहनती कपड़े

Spread the love


शिमला। देश में ऐसी-ऐसी परंपराएं कई स्थानों पर आपको देखने को मिलेंगी, जिसे आप आश्चर्य में पड़ जाएंगे। हिमाचल प्रदेश के मणिकर्ण घाटी के पीणी गांव में भी ऐसी ही एक अजीबोगरीब परंपरा है। यहां औरतें साल के पांच दिन तक बिना कपड़ों के रहती हैं। आइए जानते हैं, क्या है ये परंपरा और कैसे हुई शुरू।

सावन में निभाई जाती है यह परंपरा
इस गांव की यह अजीबोगरीब परंपरा सावन के महीने में निभाई जाती है. मान्यता है कि इन पांच दिनों में अगर कोई भी महिला कपड़े पहनती है तो उसके घर में कुछ अशुभ हो सकता है और अप्रिय समाचार सुनाई पड़ सकता है. वर्षों से चली आ रही इस परंपरा को गांव के प्रत्येक घर में निभाया जाता है. इसके पीछे एक कहानी है. गांव के कुछ लोगों का मानना है कि सदियों पहले यहां एक राक्षस सुंदर कपड़े पहनने वाली औरतों को उठा ले जाता था, जिसका अंत इस गांव में देवताओं ने किया. मान्यता है कि लाहुआ देवता आज भी गांव में आते हैं और बुराइयों से लड़ाई लड़ते हैं.

वक्त के साथ हुए हैं बदलाव
हालांकि वक्त के साथ कुछ चीजों में बदलाव किया गया है. अब इस परंपरा को निभाने के लिए महिलाएं पांच दिनों तक कपड़े नहीं बदलती हैं और बेहद ही पतला कपड़ा पहनती हैं. पहले महिलाएं पांच दिनों तक निर्वस्त्र रहती थीं. इन पांच दिनों में गांव के अंदर मांस-मदिरा का सेवन बंद हो जाता है. साथ ही किसी तरह का जश्न, कार्यक्रम और यहां तक कि हंसना भी बंद कर दिया जाता है. महिलाएं इन दिनों खुद को समाज से बिल्कुल अलग कर लेती हैं.

हल्ला बोल को यूपी के सभी जिलों में संवाददाताओं की जरूरत है। ऐसे इच्छुक व्यक्ति जो निशुल्क रूप से हमसे जुड़ना चाहते हैं वो व्हाट्सएप नंबर 9451647342 पर हल्ला बोल टाइप कर संदेश भेज सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *