मदद के लिए उठाएं हाथः गरीबी में इस बेटी की छिनती जा रही आंखों की रोशनी

घर के एक कोने में खाट पर लेटी हुई बूढी मां और उनके सिर को दबाती हुई दो बेटियां, जिनकी आंखों की रोशनी तक इलाज के अभाव में जा रही है। घर में अस्त-व्यस्त हालत में पडे बर्तन। ऐसा ही कुछ नजारा आवास विकास कानपुर की रहने वाली सुमन तिवारी के यहां देखने को मिला। अपने पैरों को खो चुकी सुमन तिवारी को गरीबी ने इस कदर जकडा कि एक व्हीलचेयर भी वह नहीं ले सकती हैं और दस साल से एक कमरे में अपना जीवन यापन कर रही थीं।
उम्मीद की किरण उनके पति विनय तिवारी थे, सिक्योरिटी गार्ड के तौर पर काम करने वाले विनय तिवारी भी हाल ही में एक सडक हादसे का शिकार हो गए हैं और घर की माली हालत पूरी तरह से बिगड गई। आज इस परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट खडा हो गया है।
सामाजिक कार्यकर्ता अंकित पचैरी ने जब उनकी इस समस्या को जाना तो उन्होंने उनके घर एक व्हीलचेयर पहुंचाई ताकि जो महिला दस साल से घर से बाहर केवल व्हीलचेयर के कारण न निकल पा रही हो उसे बाहर निकाला जा सके। लेकिन सिर्फ इतनी मदद इस परिवार के लिए काफी नहीं है।

पिता को मारने वाले को सजा हो

सुमन के बेटियों प्रियंका और मनी के सिर से पिता का साया उठ चुका है। बताया जा रहा है कि एक्सीडेंट जिस व्यक्ति से हुआ उसकी पहचान भी कर ली गई है। इस गरीबी हालत में गुजर कर रही बेटियों का कहना है कि उनके पिता को मारने वाले को सजा हो। लेकिन कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने के लिए भी इस परिवार के पास पैसा नहीं है।

जरूरत है मदद की
बेटी प्रियंका को आंखों की समस्या ने भी इन दिनों घेर रखा है। उसकी रोशनी धीरे-धीरे कम होती जा रही है। डाॅक्टरों का कहना है कि प्रियंका की रोशनी इलाज से फिर से वापस आ सकती है। 26 वर्षीय प्रियंका के परिवार के पास इतना भी पैसा नहीं है कि बेटी का इलाज करवाया जा सके और उसकी आंखों की रोशनी वापस लाई जा सके। ऐसे में इस परिवार को आज मदद की सख्त जरूरत है, लेकिन मदद के लिए खडे होने वाले हाथ अभी इस परिवार से काफी दूर हैं।

आप भी हल्ला बोल के माध्यम से प्रियंका और उसके परिवार की मदद के लिए आगे बढ सकते हैं। प्रियंका और उसके परिवार के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप 7895498504 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

हल्ला बोल को यूपी, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश के सभी जिलो में संवाददाताओं की आवश्यकता है। जो निशुल्क रूप से हमें सहयोग कर सके। संवाददाता के लिए हमारे व्हाटसऐप नंबर 9451647342 पर hello halla bol टाइप कर भेजे। इसके अलावा पुलिस, मीडिया, राजनीति से संबंधित कोई खबर प्रकाशित करवाना चाहते हैं तो भी आप इस नंबर पर खबर भेज सकते हैं।
mail id: hellohallabol.com@gmail.com

FacebookTwitterGoogle+Share