14 साल की उम्र में ही बेसहारा लोगों की उम्मीद की किरण बनी प्रेरणा

रोहित सिंह, कानपुर। महज 14 साल की उम्र में वह बडे-बडे लोगों का सहारा बन गई है। जीवन जीने की उम्मीद छोड चुके लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है। जिस उम्र में लोग अपने पैरों पर खडे भी नहीं हो पाते हैं, उस उम्र में वह सैकडों लोगों की उम्मीद की किरण बनी हुई है। जी हां आज हम आपको ऐसी ही एक छात्रा से मिलवा रहे हैं, जिसके जज्बे को सभी सलाम कर रहे हैं।
यूपी के कानपुर में बर्रा की रहने वाली प्रेरणा त्रिपाठी ने गरीबों की मदद के लिए एक ग्रुप बना रखा है, जिसमें धीरे-धीरे लोगों की संख्या बढती जा रही है। यह ग्रुप पैसों की कमी के कारण इलाज न करवा पा रहे लोगों की मदद कर रहा है। प्रेरणा के इस काम में उसके बाबा प्रकाश चंद्र त्रिपाठी भी बाखूबी साथ निभा रहे हैं। प्रकाश चंद्र का कहना है कि प्रेरणा के कार्यों से ही उन्हें प्रेरणा मिली और वह भी सामाजिक कार्यों में प्रेरणा का साथ दे रहे हैं।

स्कूल को लिया गोद
कानपुर के चिंटल्स स्कूल में दसवीं क्लास की छात्रा प्रेरणा घाटमपुर के तेजपुर गांव में एक प्राइमरी पाठशाला को गोद लिए हुए है और वह यहां बच्चों को समय-समय अपनी पाॅकेट मनी और लोगों के सहयोग से जरूरी सामग्री और उपहार देकर उन्हे आगे बढने के लिए प्रोत्साहित करती रहती है।

बाॅक्सर को दिया सहारा
कानपुर के नौबस्ता की रहने वाली बाॅक्सिंग चैंपियन रूकसार बानो उन दिनों पैसों के अभाव में पतंग बनाकर अपना जीवन गुजारा कर रही थी, प्रेरणा को जब उसके बारे में जानकारी हुई तो उसकी पूरी स्थिति के बारे में उसने जाना और घर आकर अपनी गुल्लक फोडकर बचपन से जोडे अभी तक के सारे पैसे उसे दे दिए। प्रेरणा के इस काम को देखकर उसके परिवार वालों को भी काफी फक्र हुआ।

चाचा की बीमारी ने किया असहाय, लेकिन हिम्मत नहीं हारी
अपने चाचा की लाडली लोगों की मदद करने वाली प्रेरणा की जिंदगी में एक पल ऐसा भी आया, जब चाचा की बीमारी में वह खुद को असहाय समझने लगी। प्रेरणा के चाचा की किडनी में प्राॅब्लम थी उसे बदला जाना था, इसके लिए तमाम अडंगेबाजी सामने आई। बाद में डीएम से इसकी परमीशन मिल गई। चाचा के इलाज के लिए खून की जरूरत थी। तभी प्रेरणा ने अपने दोस्तों से बात की, दोस्तों के परिवार वालों और मिलने वालों ने सहयोग दिया और खून की कमी पूरी हुई। इसी के बाद प्रेरणा ने एक ग्रुुप बनाया और गरीब, बीमार, असहाय लोगों की मदद करना शुरू कर दिया।
शूटर्स की तैयार कर रही फौज
प्रेरणा इन दिनों ऐसे गरीब बच्चों को निशानेबाजी का प्रशिक्षण भी दे रही है, जो हुनर के बावजूद पैसे के अभाव में कुछ सीख नहीं पा रहे हैं। शूटिंग के इस काम में बिजनौर की नेशनल बाॅक्सिंग चैंपियन आकांक्षा भी खूब मदद कर रही है। प्रेरणा को समय-समय पर वह शूटिंग की बारिकियों के बारे में बताती रहती है। प्रेरणा की ही इस लगन को देखते हुए आकांक्षा ने कानपुर साउथ में निशानेबाजी के लिए एक ऐसा प्रशिक्षण केंद्र खोलने का मन बनाया है, जहां गरीब बच्चों को निशुल्क प्रशिक्षित किया जाए।

हल्ला बोल को यूपी, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश के सभी जिलो में संवाददाताओं की आवश्यकता है। जो निशुल्क रूप से हमें सहयोग कर सके। संवाददाता के लिए हमारे व्हाटसऐप नंबर 9451647342 पर hello halla bol टाइप कर भेजे। इसके अलावा पुलिस, मीडिया, राजनीति से संबंधित कोई खबर प्रकाशित करवाना चाहते हैं तो भी आप इस नंबर पर खबर भेज सकते हैं।
mail id: hellohallabol.com@gmail.com

FacebookTwitterGoogle+Share